Tuesday , April 24 2018 10:18 AM
Breaking News

ट्रम्प ‘उचित वक्त पर’ पुतिन को बुलाएंगे अमेरिका,बोले ‘अगर आप संवाद (उनसे) नहीं करते हैं तो आप मूर्ख ही होंगे

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में चयनित होने के लिये रूसी साठगांठ से अपना चुनाव अभियान चलाने के आरोपों का सामना कर रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि वह रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन को व्हाईट हाउस आमंत्रित करेंगे, लेकिन ‘सही वक्त आने पर। ’ गुरुवार (13 जुलाई) को पेरिस जाने के क्रम में अपने साथ यात्रा कर रहे संवाददातों से ट्रम्प ने पुतिन को आमंत्रित करने से संबद्ध अपनी इच्छा जाहिर की। ट्रम्प का यह बयान ऐसे समय में सामने आया है जब अमेरिकी मीडिया की रिपोर्ट के बाद इस कांड की आंच उनके बड़े बेटे तक पहुंच गयी। अमेरिकी मीडिया ने यह रिपोर्ट दी थी कि डोनाल्ड ट्रम्प जूनियर ने पिछले साल किसी रूसी वकील से मुलाकात की थी जिसने ट्रम्प की प्रतिद्वंद्वी एवं डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन को क्षति पहुंचाने वाली सूचना उपलब्ध कराने का वादा किया था।

रिपोर्ट के अनुसार ट्रम्प जूनियर ने जून में न्यूयॉर्क स्थित ट्रम्प टावर में उस वकील से मुलाकात की थी। इस सप्ताह उन्होंने बैठक के बारे में कुछ ईमेल जारी किये थे और अमेरिकी राष्ट्रपति ने ईमेल जारी करने में ‘पारदर्शिता’ को लेकर सार्वजनिक रूप से अपने बेटे का बचाव किया था. ट्रम्प ने 2016 चुनाव को अपने पक्ष में मोड़ने के लिये अपने प्रचार अभियान में किसी रूसी से संपर्क के आरोपों को खारिज किया था. लेकिन अमेरिकी खुफिया एजेंसियां उनके बयान से सहमत नहीं हैं।

विशेष विमान ‘एयर फोर्स वन’ पर सवार संवाददाताओं के यह पूछे जाने पर कि वह पुतिन को व्हाइट हाउस बुलाएंगे या नहीं, इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि यह सही समय है, लेकिन इसका जवाब ‘हां’ है। ’ उन्होंने कहा, ‘देखिये, मेरे लिये यह कहना बेहद आसान है कि मैं ऐसा नहीं करूंगा। ऐसा करना मेरे लिये बेहद आसान है लेकिन ऐसा करना मूर्खता है। तो आइये स्मार्ट बनें ना कि मूर्ख शख्स.’ ट्रम्प ने रूस को ‘दुनिया में संभवत: दूसरा सबसे शक्तिशाली परमाणु सम्पन्न देश’ बताया और कहा कि ‘अगर आप संवाद (उनसे) नहीं करते हैं तो आप मूर्ख ही होंगे। ’

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जर्मनी में पिछले सप्ताह आयोजित जी 20 शिखर सम्मेलन में अलग-थलग होने की खबरों को तवज्जो नहीं देते हुए शुक्रवार (14 जुलाई) को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके चीनी समकक्ष शी चिनफिंग समेत इस समूह के नेताओं के साथ उनके अच्छे ताल्लुकात हैं।

भारत और जी 20 के 18 अन्य सदस्य देशों ने जर्मनी के हैम्बर्ग में आयोजित बैठक में पेरिस जलवायु समझौते को ‘अपरिवर्तनीय’ करार देते हुए इस महत्वपूर्ण करार का समर्थन किया, जिससे वॉशिंगटन पीछे हट गया है। सम्मलेन से जुड़े सवालों के जवाब देते हुए ट्रंप ने कहा, ‘यह अच्छी चीज है कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ मेरे अच्छे ताल्लुकात हैं। यह अच्छी बात है कि उनमें से प्रत्येक-मोदी- के साथ मेरे अच्छे संबंध हैं, आपने यह देखा। ’

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

एससीओ के विदेश मंत्रियों की बैठक में भाग लेंगी सुषमा

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चार दिनों की यात्रा पर शनिवार को यहां पहुंची. इस दौरान ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *