Friday , September 22 2017 12:24 AM
Breaking News
Home / Breaking News / फिर हो सकता है, सपा परिवार में घमासान ,शिवपाल ने दिया ये बयान

फिर हो सकता है, सपा परिवार में घमासान ,शिवपाल ने दिया ये बयान

अर्ली न्यूज़/लखनऊ।  राष्ट्रपति चुनाव के मसले पर समाजवादी पार्टी (सपा) की रार एक बार फिर लोगों के सामने आ सकती है।  राष्‍ट्रपति चुनाव में प्रत्याशी को समर्थन देने के बारे में पूछने पर उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल  ने कहा ‘अभी मुझसे केवल रामनाथ कोविंद ने वोट मांगा है, मैंने मन बना लिया है जिसने अभी तक वोट मांगा है, उसी के साथ मन बनाया है’ यानी अखिलेश यादव  के चाचा शिवलाप और सपा संस्थापक सांसद मुलायम ‘पार्टी लाइन’ से हटकर भाजपानीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) प्रत्याशी रामनाथ कोविंद के पक्ष में मतदान कर सकते हैं।  इससे पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव राष्ट्रपति चुनाव  में विपक्षी दलों की उम्मीदवार पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के समर्थन का एलान कर चुके हैं।

वहीं शुक्रवार को लखनऊ दौरे पर आई मीरा कुमार ने इस सिलसिले में अखिलेश से मुलाकात भी की थी।  मुलायम भी कोविंद को ‘मजबूत और अच्छा उम्मीदवार’ बताते हुए उनसे अपने मधुर संबंध जता चुके हैं।  उन्होंने 20 जून को प्रधानमंत्री के सम्मान में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिये गये रात्रि भोज में शिरकत करके राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद का समर्थन करने के स्पष्ट संकेत दिये थे।

अखिलेश और बसपा प्रमुख सुरी मायावती ने इस रात्रिभोज में शिरकत नहीं की थी।  इससे पहले भी शिवपाल ने कहा था ‘नेताजी (मुलायम) जो कहेंगे, वही होगा। ’ शिवपाल के वफादार कहे जाने वाले दीपक मिश्र ने कोविंद के खुले समर्थन का एलान करते हुए प्रधानमंत्री को उन्हें राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाये जाने पर बधाई दी थी। हालांकि मिश्र किसी सदन के सदस्य नहीं हैं।

मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल आगामी 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है।  नये राष्ट्रपति का चुनाव 17 जुलाई को होना है. मालूम हो कि पिछले साल सितंबर में अखिलेश को सपा के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाये जाने के बाद पार्टी में ‘शह और मात का खेल’ शुरू हो गया था।  मुलायम द्वारा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गये शिवपाल इस खेल में अखिलेश के प्रतिद्वंद्वी बनकर उभरे थे।

हालांकि बीती  1 जनवरी को सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में मुलायम को पार्टी का ‘सर्वोच्च रहनुमा’ बनाते हुए उनके स्थान पर अखिलेश को सपा का अध्यक्ष बना दिया गया था, जबकि शिवपाल को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था।  उसके बाद से पार्टी में दो फाड़ नजर आ रहे हैं।

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*