Wednesday , December 19 2018 12:54 AM
Breaking News

मालामाल होगा इनकम टैक्स विभाग

वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील में कर का पेंच फंस गया है इनकम टैक्स विभाग ने दोनों कंपनियों को चिट्ठी लिखकर कर चुकाने को बोला है इनकम टैक्स विभाग ने वॉलमार्ट से बोला है कि नियमों के मुताबिक कर देनदारी बनेगी विभाग ने वॉलमार्ट से साफ किया है कि वह कर का पैसा काटकर ही फ्लिपकार्ट के शेयरहोल्डर्स को पेमेंट करें वहीं, इनकम कर डिपार्टमेंट ने फ्लिपकार्ट से डील का पूरा ब्योरा मांगा है विभाग ने उससे भी बोला है कि शेयर ट्रांसफर होने की वजह से डील में कर देनदारी बनेगी इससे इनकम टैक्स विभाग के खजाने में भी मोटी रकम आएगी

Image result for मालामाल होगा इनकम टैक्स विभाग

क्यों लगेगा टैक्स?
इनकम कर विभाग इस पूरी डील पर नजर रखे हुए है सूत्रों के मुताबिक इनकम कर डिपार्टमेंट ने कंपनी को लिखी चिट्ठी में बोला है कि संपत्ति हिंदुस्तान में है, इसलिए कर की देनदारी बनती हैआईटी एक्ट के सेक्शन 9 (1) (i) का हवाला देते हुआ बोला गया है कि हिंदुस्तान में मौजूद संपत्ति का सौदा होगा, इसलिए विदहोल्डिंग कर लगेगा विदेशी भी हिंदुस्तान में मौजूद संपत्ति का सौदा करे तो ये कर लगेगा बता दें कि इस डील में 10-20 प्रतिशत तक विदहोल्डिंग कर लग सकता है

फ्लिपकार्ट फाउंडर्स को भी देना होगा टैक्स
फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर सचिन  बिन्नी बंसल को कंपनी बेचकर मिली रकम पर 20% कर देना पड़ सकता है हिंदुस्तान की फ्लिपकार्ट में 77 पर्सेंट हिस्सेदारी खरीदने वाली अमेरिकी रिटेलर वॉलमार्ट इस डील पर कर की देनदारी तय करने के लिए इनकम कर डिपार्टमेंट से संपर्क कर सकती है वॉलमार्ट खरीदी है

लग सकता है कैपिटल गेन टैक्स
कर एक्सपर्ट्स के मुताबिक, फ्लिपकार्ट में विदेशी निवेशकों पर टैक्‍स अलग तरीके से लगेगा पहले यह देखना होगा उनका पैसा किस राष्ट्र के रास्ते से आया है अगर फ्लिपकार्ट के प्रमोटर अपनी हिस्‍सेदारी इंडियन नागरिक के रूप में बेचते हैं तो उन्हें सौदे से होने वाले कैपिटल गेन पर इनकम करदेना होगा इस सौदे में सचिन  बिन्‍नी बंसल को मुनाफे पर 20% कैपिटल गेन्स कर देना होगा

देना होगा 2,000 करोड़ रुपये टैक्स
डील होने के साथ फ्लिपकार्ट के सबसे बड़े निवेशकों में से सॉफ्टबैंक ने अपने पूरे 22 प्रतिशत स्टेक बेच दिए हैं सॉफ्टबैंक ने पिछले वर्ष अगस्त में 2.5 बिलियन डॉलर 22 प्रतिशत स्टेक खरीदे थे अब उसे इन्हें बेचने पर 4.5 बिलियन डॉलर मिल रहे हैं क्योंकि सॉफ्टबैंक को 2 बिलियन यानी लगभग 13,000 करोड़ का लाभ हो रहा है, तो उसे 2,000 करोड़ रुपए कर के रूप में हिंदुस्तानगवर्नमेंट को देने पडे़ंगे

सॉफ्टबैंक को क्यों देना होगा टैक्स?
अमेरिका स्थित सॉफ्टबैंक के पास ट्रीटी कवर नहीं है, जिसके चलते उसे कर से राहत मिल सकेक्योंकि, सॉफ्टबैंक ने फ्लिपकार्ट में पिछले वर्ष अगस्त में निवेश किया था, इसके चलते कंपनी शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन कर के तहत कर भरेगी इंडियन कर नियमों के तहत अगर आप गैर लिसटेड कंपनी में दो वर्ष से कम के लिए निवेश करते हैं  फिर आप अपना पैसा निकालते हैं तो आपको शॉर्ट टर्म कर (दो वर्ष से कम) के तहत 15 प्रतिशत कर देना होता है वहीं अगर आप गैरलिस्टेड कंपनी में दो वर्ष से अधिक समय तक निवेश करने के बाद अपना पैसा निकालते हैं तो आपको लॉन्ग टर्म करके तहत 20 प्रतिशत कर देना होता है

टैक्स कितना देना है? IT से पूछेगी वॉलमार्ट
हिंदुस्तान की फ्लिपकार्ट में 77 पर्सेंट हिस्सेदारी खरीदने वाली अमेरिकी रिटेलर वॉलमार्ट इस डील पर कर की देनदारी तय करने के लिए इनकम कर डिपार्टमेंट से संपर्क कर सकती है वॉलमार्ट खरीदी है इनकम कर डिपार्टमेंट ने वॉलमार्ट को कर तय करने के लिए संपर्क करने को बोला है वॉलमार्ट को डिपार्टमेंट की ओर से भेजे गए लेटर की जानकारी रखने वाले एक सीनियर इनकम कर ऑफिसरने बताया, ‘हमने उन्हें बोला है कि वे अपनी कर देनदारी तय करने के लिए इनकम कर ऑफिसर से संपर्क कर सकते हैं ‘

क्यों बन सकती है कर देनदारी
– इनकम कर एक्ट के सेक्शन 9(1)(i) के तहत कर का दावा
– ऐसी संपत्ति ट्रांसफर जिसमें हिंदुस्तान से आय हो तो कर लगेगा
– फ्लिपकार्ट सिंगापुर की आय का अहम भाग हिंदुस्तान से
– ऐसे में डील भले सिंगापुर यूनिट से हो लेकिन कर देनदारी हिंदुस्तान में होगी
– IT डिपार्टमेंट विद होल्डिंग कर की मांग कर सकता है

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

आपके पास है जियो के नए 4जी फीचर फोन जियो फोन 2 को खरीदने का मौका

यदि आप भी 4जी सपोर्ट के साथ एक फीचर फोन की तलाश में हैं तो ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop