Thursday , February 21 2019 12:58 PM
Breaking News

दिवालिया होने पर संपत्ति में होगी हिस्सेदारी

बिल्डरों से मकान खरीदने को बड़ी राहत मिलने के संभावना हैं. गवर्नमेंट ने इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड में परिवर्तन करने के लिए अध्यादेश लाने का निर्णय किया है. इसके मसौदे को केन्द्र गवर्नमेंट ने मंजूरी दे दी हैImage result for दिवालिया होने पर संपत्ति में होगी हिस्सेदारी
पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई मंत्रिमंडल की मीटिंग में इस आशय का निर्णय हुआ. मीटिंग के बाद संवादाताओं से वार्ता में केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने इस बारे में जानकारी दी. हालांकि उन्होंने अध्यादेश के बारे में कुछ भी जानकारी देने से इंकार किया. उनके मुताबिक कुछ संवैधानिक प्रोटोकॉल होता है. जब तक इस अध्यादेश पर राष्ट्रपति का हस्ताक्षर नहीं हो जाता, तब तक इसे सार्वजनिक नहीं किया जाएगा.

बिल्डर नहीं छुड़ा सकेंगे पीछा
बताया जाता है कि अध्यादेश जारी हो जाने के बाद बिल्डर खुद को दिवालिया घोषित करके ग्राहकों से अपना पीछा नहीं छुड़ा सकते हैं. अगर बिल्डर दिवालिया होता है तो अब उसकी संपत्ति में ग्राहकों की भी हिस्सेदारी होगी.

स्कूटर्स इंडिया लिमिटेड के बैलेंस शीट का रिस्ट्रक्चर 
इसी मीटिंग के दौरान भारी उद्योग विभाग के सार्वजनिक उपक्रम स्कूटर्स इंडिया लिमिटेड के विनिवेश की राह सरल करने के लिए भी निर्णय हुआ. रवि शंकर प्रसाद के मुताबिक कंपनी के संचित घाटे में से इसके 85.21 करोड़ रुपये की अंशधारित पूंजी को घटा दिया गया है.

यह निर्णय 31 मार्च 2013 से प्रभावी होगी. इसके साथ ही गैर योजना मद में साल 2012-13 के दौरान लिये गए 1.89 करोड़ रुपये के ऋण पर ब्याज को उसी तारीख से फ्रीज कर दिया गया, जिस तारीख को यह ऋण जारी किया गया था. अब गवर्नमेंट ने 1.89 करोड़ रुपये के ऋण को इक्विटी में बदल दिया है. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कंपनी का बैलेंस शीट रिस्ट्रक्चर हो सके.

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

31 उपग्रहों को आज अंतरिक्ष की कक्षा में किया जाएगा स्‍थापित

इंडियन रॉकेट धुव्रीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) द्वारा 31 उपग्रहों को आज अंतरिक्ष की कक्षा में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop