Sunday , August 19 2018 10:49 PM
Breaking News

बच्चों के यौन शोषण करने वाले स्कूलकर्मी अब मिलेगी ये बड़ी सजा

तेहरान बाल हाईस्कूल के सुपरवाइजर को न्यायालय ने में दस वर्ष कैद  80 कोड़े मारने की सजा सुनाई ईरान की अर्द्धसरकारी खबर एजेंसी आईएसएनए ने यह जानकारी दी राजधानी के पश्चिम में स्थित एक व्यक्तिगत स्कूल में कई विद्यार्थियों पर हमले की रिपोर्ट मई में मीडिया में आने के बाद गुस्सा फूटा था ईरान के शीर्ष नेता अयातुल्ला खुमैनी तक ने न्यायपालिका को इस मामले में आवश्यक कदम उठाते हुए दोषी को दंडित करने की मांग की थी आईएसएनए के अनुसार शनिवार को न्यायालय ने सुपरवाइजर को बच्चों के विरूद्ध यौन हमले का दोषी ठहराया

हालांकि बच्चों की मेडिकल जांच रिपोर्ट में पुष्टि नहीं होने से न्यायालय ने दुष्कर्म के आरोप को खारिज कर दिया ईरान में दुष्कर्म के लिए सज़ा-ए-मौत का प्रावधान है

भारत गवर्नमेंट ने स्वीकारा, 53% बच्चों का हुआ यौन उत्पीड़न
केंद्र प्रायोजित एक सर्वे के मुताबिक, हिंदुस्तान में 53 प्रतिशत से अधिक बच्चों ने यौन उत्पीड़न का सामना किया गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने लिखित उत्तर में यह जानकारी दी उन्होंने बताया कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने वर्ष 2007 में बाल उत्पीड़न पर एक सर्वे कराया था 13 राज्यों असम, मिजोरम, गोवा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, गुजरात  केरल में कराए गए इस सर्वे में 13,000 से अधिक बच्चों से बात की गई इस सर्वे में पता चला कि 53 प्रतिशत से अधिक बच्चों ने यौन उत्पीड़न का सामना किया

21.90 प्रतिशत बच्चों ने गहरे यौन उत्पीड़न का सामना करने की बात बताई जबकि 50.76 प्रतिशतबच्चों ने यौन उत्पीड़न के अन्य प्रकारों का सामना किया अहीर ने यह भी बताया कि उत्पीड़न करने वालों में से 50 प्रतिशत लोग ऐसे थे जिन्हें बच्चे जानते थे ज्यादातर बच्चों ने अपनी पीड़ा के बारे में किसी को भी नहीं बताया बेघर बच्चों, कार्य करने वाले बच्चों के यौन उत्पीड़न की घटनाएं अधिक हुईं

 

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

स्वास्थ्य विभाग में नहीं मिल पा रही कामकाज को गति, डीएम का आदेश साबित हो रहा हवा-हवाई

स्वास्थ्य विभाग में डीएम का आदेश हवा-हवाई साबित हो रहा है। ऐसा ही एक मामला ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SR Global School