Wednesday , December 12 2018 2:12 PM
Breaking News

ईदगाह तिराहे पर देर रात निर्माण कार्य को लेकर दो समुदाय के लोगों के बीच हुए टकराव

ईदगाह तिराहे पर शनिवार देर रात निर्माण कार्य को लेकर  दो समुदाय के लोगों के बीच हुए टकराव के मामले में पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लिया है, इनमें से चार का चालान कर दिया गया है। सभासद प्रवीण कुमार पीटर की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ तोड़फोड़, मारपीट व धमकी देेने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।
Image result for दो समुदाय के लोगों के बीच हुए टकराव

शहर कोतवाली क्षेत्र के ईदगाह तिराहे पर निर्माण कार्य चल रहा है। इसके तहत तिराहे पर खूबसूरत छत बनाने के साथ ही उसके नीचे एक बड़ा गमला लगाकर उसमें तुलसी का पौधा लगाने की योजना बनाई गई थी। शनिवार देर रात एक समुदाय के लोगों ने मौके पर पहुंचकर हंगामा करते हुए वहां मूर्ति लगाए जाने का आरोप लगाते हुए बड़े गमले को तोड़ दिया था, जिसे लेकर दूसरे समुदाय के लोग भी मौके पर पहुंच गए थे।

इसके बाद दोनों समुदाय के लोगों में तीखी नोकझोंक के साथ ही नारेबाजी, हंगामा के साथ ही धक्कामुक्की भी हो गई थी। सूचना पर सीओ सिटी हरीश भदौरिया व इंस्पेक्टर कोतवाली अनिल कपरवान ने टीम के साथ मौके पर पहुंचकर लाठियां फटकारते हुए भीड़ को खदेड़कर स्थिति पर काबू पाया था। इस मामले में देर रात सभासद प्रवीण पीटर की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ तोड़फोड़, धक्कामुक्की व धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया गया था। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए आठ लोगों को हिरासत में लिया गया, जिनमें से चार का शातिभंग की आशंका में चालान कर दिया गया।

हिरासत से लोगों को छुड़ाने के लिए लगा रहा जमावड़ा
मुजफ्फरनगर। ईदगाह तिराहे पर शनिवार देर रात निर्माण कार्य को लेकर हुए बवाल के बाद हिरासत में लिए गए आठ लोगों को छुड़ाने के लिए थाने में लोगों का जमावड़ा लगा रहा। कई कथित समाजसेवी भी आरोपियों को छुड़ाने के लिए कोतवाली की परिक्रमा करते रहे। हालांकि पुलिस ने उनके दबाव में न आते हुए  शाम चार लोगों का शांतिभंग की आशंका में चालान कर दिया।

आखिर कौन है शहर के अमन का दुश्मन
ईदगाह प्रकरण को सांप्रदायिक आधार पर तूल देने के मामले को लेकर पुलिस प्रशासन साजिशकर्ताओं की तलाश में जुट गया है। एक माह में दूसरी बार मामूली बात पर विवाद होने पर कुछ कथित समाजसेवी पुलिस के निशाने पर हैं। वहीं, करीब डेढ़ दर्जन मोबाइल भी सर्विलांस पर लिए गए हैं, जबकि खुफिया विभाग भी पूरे मामले को लेकर रिपोर्ट तैयार करने में जुटा है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला खालापार में करीब एक माह पूर्व उत्तराखंड पुलिस चोरी के एक आरोपी के घर नोटिस तामील कराने पहुंची थी। मौके पर पता चला कि आरोपी अपना मकान मौलाना जाकिर को बेचकर अन्यत्र जा चुका है। इस पर उत्तराखंड पुलिस बैरंग लौट गई थी। देर रात कुछ लोगों ने पुलिस पर मौलाना जाकिर के घर में घुसकर तोड़फोड़ व महिलाओं से बदसलूकी करने की अफवाह उड़ा दी थी।

इस पर मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जा पहुंची और हंगामा शुरू हो गया। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से स्थिति पर काबू पाया था। इस मामले में जांच की गई तो पता चला कि समाजसेवा का चोला ओढ़े कुछ कथित लोगों ने उक्त मामले को बेवजह तूल देने का प्रयास किया था। इसी तरह शनिवार देर रात ईदगाह तिराहे पर हुए बखेड़े में भी कुछ कथित समाजसेवियों द्वारा पर्दे के पीछे से बवाल की भूमिका तैयार करने की बात सामने आ रही है, जिसके बाद पुलिस ने अब इन कथित समाजसेवियों पर नजर गड़ा दी है।

वहीं, सूत्रों के अनुुसार शनिवार देर रात हुए हंगामे के बाद पुलिस ने क्षेत्र में सक्रिय करीब डेढ़ दर्जन मोबाइल नंबर को भी जांच के दायरे में लिया है, ताकि शहर के अमन को पलीता लगाने की बार-बार कोशिश कर रहे शातिर को बेनकाब किया जा सके। वहीं, खुफिया विभाग भी मामले को लेकर अपनी रिपोर्ट तैयार करने में लगा है, जिसे जल्द ही शासन को भेजा जाएगा।

पुलिस के अभिलेखों में दर्ज होगा चबूतरा
मुजफ्फरनगर। ईदगाह तिराहे पर शनिवार देर रात हंगामे का सबब बना चबूतरा पुलिस के अभिलेखों में दर्ज किया जाएगा। डीएम राजीव शर्मा ने मामले का संज्ञान लेते हुए चबूतरे के  संबंध में जानकारी ली तो पता चला कि उक्त चबूतरा क्षेत्रीय लोगों ने कई वर्ष पूर्व पुलिस के लिए बनवाया था, ताकि वहां खड़े होकर ट्रैफिक को कंट्रोल किया जा सके। बाद में उक्त स्थान पर ही पुलिस चौकी की स्थापना हो गई, जिसके बाद उक्त चबूतरा अप्रासंगिक हो गया। पूरे मामले की जानकारी लेने के बाद डीएम ने एसएसपी अनंतदेव को पत्र भेजकर चबूतरे को पुलिस के अभिलेखों में दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

विधानसभा चुनाव:छत्तीसगढ़=BJP-15 कांग्रेस 67 -JCC -8 अन्य-0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop