Saturday , September 22 2018 10:16 PM
Breaking News

रेल पटरी के पास बिहार के युवक विगनराम की चाकुओं से गोदकर की गई हत्या

कलानौर के लाहड़ी गांव में रेल पटरी के पास बिहार के युवक विगनराम की चाकुओं से गोदकर की गई हत्या का खुलासा करने के नजदीक जीआरपी पहुंच गई है। शक की सूई युवक की भाभी पर आकर रुक गई है।

Image result for चाकुओं से गोदकर की गई हत्या

 

अब तक की जीआरपी की तफ्तीश में यह सामने आया है कि शादी के बाद गैर युवकों से प्रेम संबंध बनाने पर देवर ने विरोध किया था। इसका बदला लेने के लिए पहले तो भाभी ने देवर को ही प्रेमजाल में फंसा लिया। उसके साथ बिहार से रोहतक आ गई। यहां कलानौर के लाहड़ी गांव में प्रेमी संग मिलकर उसकी हत्या करा दी और शव रेल पटरी के पास फेंक दिया। शव की पहचान न हो, इसलिए सारे पहचान पत्र गायब कर दिए। घटनास्थल के पास झाड़ियों से मिले एक पहचान पत्र के आधार पर जीआरपी यहां तक पहुंची। इस मामले में परिजनों ने भी युवक की भाभी पर हत्या की आशंका जताई थी।

यह था मामला
जीआरपी थाना प्रबंधक नरेश कुमार ने बताया कि 21 मई की सुबह कलानौर रेलवे स्टेशन से करीब दो किलोमीटर दूर गांव लाहड़ी के रेलवे ट्रैक पर युवक का शव खून से लथपथ मिला था। उसकी चाकुओं से प्रहार करके हत्या की गई थी। जब मौके पर हत्या के साक्ष्य नहीं मिले तो आसपास पड़ताल की। करीब 30-35 कदम दूर खाने-पीने का सामान, शराब की बोतल व खून पड़ा मिला। नजदीक झाड़ियों में मृतक का मतदाता पहचान पत्र मिला। इससे उसकी शिनाख्त बिहार के शिहौर जिले के गाजीपुर के विगनराम के रूप में हुई।

घरवालों को दी गई सूचना
पुलिस की सूचना पर 23 मई को बिहार से आए लखिंदर राम व नागेंद्र ने शव की शिनाख्त अपने छोटे भाई विगनराम (24) के रूप में की। उन्होंने भाभी नीता देवी पर प्रेमी के साथ मिलकर हत्या की आशंका जताई। पुलिस के अनुसार नीता देवी शादी के कुछ समय बाद प्रेमी संग चली गई थी। जब वह लौटी तो परिजनों ने स्वीकार कर लिया, मगर विगनराम ने इसका विरोध किया। कुछ समय बाद वह फिर प्रेमी संग कानपुर में आकर रहने लगी। करीब छह माह बाद लौटी तो विगनराम ने घर के अंदर घुसने नहीं दिया। नीता के प्रार्थना करने पर परिवार ने दोबारा से उसे रख लिया।

देवर को फंसाया प्रेमजाल में
कुछ समय बाद नीता देवी ने देवर विगनराम को ही प्रेमजाल में फंसा लिया और घटना से करीब 15 दिन पहले दोनों चुपचाप से घर से चले गए। तफ्तीश में सामने आया कि नीता और विगनराम सीधे बिहार से रोहतक आए। नीता के मन में क्या चल रहा था? इसका विगनराम को अहसास नहीं हुआ। 20 मई की रात विगनराम को शराब पिलाने के बाद चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। जीआरपी को सर्विलांस से पता चला कि विगनराम की हत्या के समय नीता का मोबाइल वारदात स्थल के आसपास था। अब वह मोबाइल गांव कासौपुर बिहार में है। जीआरपी टीम जल्द ही उसकी गिरफ्तारी के लिए रवाना होगी।

शिनाख्त न होने, इसके लिए सारी पहचान मिटाई
जीआरपी का मानना है कि विगनराम की हत्या की साजिश पहले की रच ली गई थी। हत्या के बाद पहचान को नष्ट करने की मंशा से शव की तलाशी ली गई। उसके पास ऐसा कुछ भी नहीं रहने दिया गया, जिससे उसकी शिनाख्त हो सके। पुलिस को भी शव के पास से कुछ नहीं मिला था। आसपास क्षेत्र में सघन पड़ताल की गई, यहां से मिले मतदाता पहचान पत्र से उसके शिनाख्त हो सकी।

नीता की लोकेशन वारदात स्थल पर थी
पुलिस ने बताया वारदात की रात नीता के मोबाइल की लोकेशन कलानौर में थी। मोबाइल टावर डंप करने से खुलासा हुआ है कि वह किसी अन्य मोबाइल नंबर पर लगातार संपर्क में थी। वारदात के तीसरे दिन वह मोबाइल नंबर बिहार पहुंच गया

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

राम मंदिर निर्माण के लिए फिर आंदोलन प्रारम्भ होने का एलान

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए एक बार फिर से आंदोलन प्रारम्भ हो सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SR Global School