Friday , December 14 2018 2:45 AM

यूरोपीय काउंसिल के प्रमुख डोनल्ड टस्क ने कहा, ब्रेक्ज़िट के मुद्दे पर ब्रिटेन के साथ समझौता

यूरोपीय काउंसिल के प्रमुख डोनल्ड टस्क ने कहा है कि ब्रेक्ज़िट के मुद्दे पर ब्रिटेन के साथ समझौता ‘अब भी मुमकिन’ है. इसके पहले ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने यूरोपीय यूनियन के रुख पर नाराजगी जाहिर की थी और कहा था कि ब्रेक्ज़िट की बातचीत में ब्रिटेन का सम्मान होना चाहिए. टेरीज़ा मे ने चेतावनी देते हुए कहा था कि वो बातचीत से हटने के लिए तैयार हैं.

Image result for ब्रेक्जिट पर ब्रिटेन से समझौता

इसके बाद डोनल्ड टस्क ने एक बयान में कहा कि वो प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे के ‘प्रशंसक’ हैं लेकिन साथ ही उन्होंने यूरोपीय संघ के रुख का समर्थन भी किया.

टस्क ने कहा कि ये तथ्य है कि टेरीज़ा मे का रुख ‘सख्त और समझौता नहीं करने वाला है’.

इसके पहले टेरीज़ा मे ने दृढ़ता के साथ कहा था, ”मैं जनमत के नतीजों को नहीं बदलूंगी और अपने देश को भी नहीं टूटने दूंगी.”

वहीं, ब्रेक्ज़िट सेक्रेट्री डोमिनिक राब ने कहा कि यूरोपीय संघ की तरफ़ से कोई भी ‘विश्वसनीय विकल्प’ नहीं दिया गया.

साथ ही उन्होंने यूरोपीय संघ की समझौते को लेकर गंभीरता पर भी संदेह जताया. उन्होंने कहा कि बिना कोई स्पष्टिकरण दिए उनकी योजनाओं को रोका गया है.

ब्रिटेन 29, मार्च 2019 को यूरोपीय संघ से अलग होने वाला है.

टेरीज़ा मे ने बताया कि सेवाएं छोड़कर वस्तुओं के लिए ‘एक समान नियमों’ की उनकी योजना एकमात्र ऐसा भरोसामंद रास्ता थी जिससे उत्तरी आयरलैंड और रिपब्लिक ऑफ आयरलैंड के बीच कड़ी सीमा से बचा जा सकता था.

यूरोपीय संघ के अध्यक्ष डोनल्ड टस्क ने न्यूज कांफ्रेंस में कहा कि टेरीज़ा मे के प्रस्ताव में कुछ सकारात्मक चीजें हैं जैसे कि चेकर्स प्लान. लेकिन, यूरोपीय संघ के नेता चाहते हैं कि इस प्रस्ताव को फिर से बनाया जाए.

उनका कहना है, “इस प्रस्ताव में आर्थिक सहयोग के लिए सुझाया गया ढांचा काम नहीं करेगा क्योंकि यह एकल बाजार को कमजोर कर रहा है.”

वहीं, आयरिश प्रधानमंत्री लिओ वरदकर ने आरटीई से कहा, ”मैं रोज इस पर काम कर रहा हूं कि ब्रिटेन और उसके बाहर के लोगों के बीच कोई समझौता न होने की स्थिति न आए.”

उन्होंने कहा था कि पिछले कुछ हफ़्ते काफ़ी मुश्किल भरे थे लेकिन कोई समझौता जरूर होगा.

ब्रिटेन और यूरोपीय संघ नवंबर मध्य तक किसी न किसी समझौते पर पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं.

  • ब्रेक्ज़िट संकट के बीच बोरिस जॉनसन का इस्तीफ़ा
  • ब्रेक्ज़िट के दूसरे दौर की बातचीत पर सहमति
  • ब्रिटेन में क्यों बढ़ रहा है इस्लाम का खौफ?

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

कमलनाथ मध्यप्रदेश के अगले मुख्यमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop