Wednesday , April 24 2019 1:25 AM
Breaking News

एकेटीयू दीक्षांत 2018- राजयपाल रामनाईक ने कहा इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट में लड़किया लड़कों से आगे


अर्ली न्यूज़/लखनऊ। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्विद्यालय के 16 वें दीक्षांत समारोह के आयोजन शुक्रवार 12 अक्टूबर को आयोजित हुआ,समारोह के मुख्यअतिथि पद्म विभूषन वैज्ञानिक एवं पूर्व सीएसआईआर हेड डॉ.आर.ए माशेलकर रहे जबकि सूबे के राजयपाल कुलाधिपति राम नाइक एवं ने दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता की। समारोह में प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन भी विशिस्ट अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए। दीक्षांत समारोह के अवसर पर डॉ रघुनाथ माशेलकर को मानध उपाधि से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मंच पर वाइस चांसलर प्रो0 विनय कुमार पाठक, प्रमुख सचिव,डीन,एवं शिक्षक मौजूद रहे। दीक्षांत समारोह ने कुल 67 मेधावियों को पदक से सम्मानित किया गया,जबकि 61 हजार 6 सौ 90 छात्र छात्राओं को उपाधि से नवाजा गया। एक मेधावी छात्र को कुलपति पदक दिया गया।

राजयपाल रामनाईक ने क्या कहा जाने-
सूबे के राजयपाल रामनाईक ने अपने सम्बोधन में कहा कि इस वर्ष दीक्षांत समारोह में 61 हजार से अधिक छात्र, छात्राओं को डिग्रियां प्रदान की गई हैं। इनमे से 77 प्रतिशत लड़के हैं जबकि 23 प्रतिशत लड़किया है। इसके बावजूद लड़कियों ने कुल 67 पदकों में से 46 पदकों को छात्राओं ने हासिल किया है,जबकि छात्रों के हाथ सिर्फ 21 पदक ही हाथ लगे। राज्यपाल ने कहा इससे साफ़ हो जाता हैं कि अब इंजीनियरिंग और प्रबंधन के क्षेत्र में भी तेजी से लड़किया आगे बढ़ रहीं है।

कलाम भावना मतलब का मतलब उदारता और सहिषुणता है- डॉ0 रघुनाथ माशेलकर
समारोह के मुख्यअतिथि वैज्ञानिक डॉ0 आर.ए.माशेलकर ने अपने सम्बोधन में बताया कि एक कलाम ने उनसे कहा था कि उनके पिता और रामेश्वर मंदिर के महायाजक भगवत गीता और कुरआन अपने घर में ला सकते हैं। डॉ.कलाम ने कई बार उल्लेख किया है कि कैसे एक चर्च प्रोद्योंगिकी प्रयोगशाला में परिवर्तित हो गया था देश रॉकेट साइंस का जन्मस्थान बन गया। यह विज्ञानं और आध्यात्मिकता के मिलन का परिणाम था।
एकेटीयू के 16 वें दीक्षांत समारोह के अवसर पर डॉ माशेलकर बोलते हुए कहतें हैं कि इससे हो जाता है कि कलाम भावना का मतलब उदारता और सहिष्णुता है। यह हमारे देश की परम्परा है, हम डॉ कलाम की प्रेरणा से शिक्षा के क्षेत्र में और बड़ा मुकाम हासिल कर सकेंगे।

प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन ने क्या कहा जाने–
उत्तर प्रदेश सरकार के काबीना मंत्री आशुतोष टण्डन ने अपने वक्तव्य में कहा कि 16 वें दीक्षांत समरोह के अवसर आये विशिस्ट अतिथियों के आने से विश्वविद्यालय गौरवानित हुआ है,वहीँ डॉ0 आर ए माशेलकर को दिए गए सम्मान मानध उपाधि के विषय में मंत्री टण्डन कहते कि उपाधि देने से हमारा गौरव बढ़ा है और ये हमारे लिए सम्मान की बात है।

समारोह में लखनऊ के कॉलेजों को भी दबदबा रहा बीटेक सिविल इंजीनियरिंग में लखनऊ के छात्रों ने अपनी बादशाहत कायम रखी,गोल्ड,सिल्वर,और ब्रॉन्ज को यहीं के छात्रों ने हासिल किया। श्रीराम स्वरुप मेमोरियल कॉलेज के उत्कर्ष मिश्रा को स्वर्ण पदक,बीबीडी एन आईआई टी के प्रिंस बाबू मिश्रा को सिल्वर व् प्रखर श्रीवास्तव को कांस्य मैडल मिला।

लखनऊ में तेजी से उभरते कालेज एस.आर. ग्रुप के कार्तिक शर्मा ने स्वर्ण पदक(इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन ) स्वर्ण पड़ा हासिल किया। एस.आर.की ही प्रियंका ठाकुर ने स्वर्ण पदक(कृषि ई0) में हासिल किया। जबकि शुशांत मिश्रा ने भी (कृषि ई0) में कांस्य पदक हासिल कर कालेज और लखनऊ का नाम रौशन किया।

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

प्रियंका गांधी वाड्रा कानपुर में रोड शो, नुक्कड़ सभा करेंगी

अर्ली न्यूज़/लखनऊ।अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रभारी पूर्वी उ0प्र0  प्रियंका गांधी वाड्रा ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *