Saturday , November 17 2018 4:10 PM
Breaking News

ट्रंप ने परमाणु हथियार नियंत्रण संधि समाप्त करने का किया है ऐलान

रूस ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आगाह किया है कि शीत युद्ध के समय के परमाणु हथियार समझौते से हटने की उनकी योजना खतरनाक है रूस के उप विदेश मंत्री सर्गेई रेयाबकोव ने बोला कि इससे हटना खतरनाक कदम होगा साथ ही बोला कि सैन्य एरिया में पूरी तरह से अपने अधिकार के कोशिश के लिए वाशिंगटन को अंतर्राष्ट्रीय निंदा का सामना करना पड़ रहा है

Image result for ट्रंप ने परमाणु हथियार नियंत्रण संधि समाप्त करने का किया है ऐलान

मध्यम दूरी परमाणु शक्ति (आईएनएफ) संधि की अवधि अगले दो वर्ष में समाप्त होनी है वर्ष 1987 में हुई यह संधि अमेरिका  यूरोप तथा सुदूर पूर्व में उसके सहयोगियों की सुरक्षा में मदद करती है

यह संधि अमेरिका तथा रूस को 300 से 3,400 मील दूर तक मार करने वाली जमीन से छोड़े जाने वाली क्रूज मिसाइल के निर्माण को प्रतिबंधित करती है इसमें सभी जमीन आधारित मिसाइलें शामिल हैं

ट्रंप ने परमाणु हथियार नियंत्रण संधि समाप्त करने का किया है ऐलान
मालूम हो कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने घोषणा की है कि उनका राष्ट्र शीत युद्ध के दौरान रूस के साथ की गई परमाणु हथियार नियंत्रण संधि से अलग हो जाएगा साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि रूस कई सालों से इस समझौते का ‘उल्लंघन’ कर रहा है मध्यम दूरी परमाणु शक्ति (आईएनएफ) संधि की अवधि अगले दो वर्ष में समाप्त होनी है वर्ष1987 में हुई यह संधि अमेरिका  यूरोप तथा सुदूर पूर्व में उसके सहयोगियों की सुरक्षा में मदद करती है

यह संधि अमेरिका तथा रूस को 300 से 3,400 मील दूर तक मार करने वाली जमीन से छोड़े जाने वाली क्रूज मिसाइल के निर्माण को प्रतिबंधित करती है इसमें सभी जमीन आधारित मिसाइलें शामिल हैं

अमेरिका तैयार करना चाहता है नुकसानदेह हथियार
ट्रंप ने नेवादा में शनिवार को पत्रकारों से कहा, ‘हम समझौते को समाप्त करने जा रहे हैं  हम इससे बाहर होने जा रहे हैं ’ ट्रंप से उन खबरों के बारे में पूछा गया था कि उनके राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन चाहते हैं कि अमेरिका तीन दशक पुरानी संधि से अलग हो जाए उन्होंने कहा, ‘हमें उन हथियारों को विकसित करना होगा ’

साल 1987 में अमेरिका के राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन  उनके तत्कालीन यूएसएसआर समकक्ष मिखाइल गोर्बाचेव ने मध्यम दूरी  छोटी दूरी की मिसाइलों का निर्माण नहीं करने के लिए आईएनएफ संधि पर हस्ताक्षर किए थे

समझौते में चाइना को साथ चाहता है अमेरिका
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘जब तक रूस  चाइना एक नए समझौते पर सहमत नहीं हो जायें तब तक हम समझौते को समाप्त कर रहे हैं  फिर हथियार विकसित करने जा रहे हैं ’ ट्रंप ने आरोप लगाया, ‘रूस ने समझौते का उल्लंघन किया वे कई सालों से इसका उल्लंघन कर रहे हैं ’

उन्होंने कहा, ‘जब तक रूस  चाइना हमारे पास नहीं आते  यह नहीं कहते कि चलिए हम में से कोई उन हथियारों का निर्माण नहीं करे, तब तक हमें उन हथियारों को बनाना होगाअगर रूस  चाइना यह कर रहे हैं,  हम समझौते का पालन कर रहे हैं तो यह अस्वीकार्य है ’ उन्होंने बोला कि जब तक दूसरे राष्ट्र इसका उल्लंघन करते रहेंगे तब तक अमेरिका इस समझौते का पालन नहीं करेगा

ट्रंप ने आरोप लगाया कि उनके पूर्ववर्ती बराक ओबामा ने इस पर चुप्पी साधे रखी उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि क्यों ओबामा ने वार्ता करने या बाहर निकलने की प्रयास नहीं कीहम उन्हें परमाणु समझौते का उल्लंघन करने नहीं देंगे ’ उन्होंने कहा, ‘हम वे हैं जो समझौते पर कायम रहे  हमने समझौते का सम्मान किया ’

इस बीच, रूस के उप विदेश मंत्री सर्गेइ रयाबकोव ने रविवार को बोला कि अमेरिका के समझौते से हटना एक खतरनाक कदम है रयाबकोव ने संवाद समिति तास से कहा, ‘यह बहुत ही खतरनाक कदम होगा मुझे यकीन है कि न केवल अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इसे समझेगा बल्कि इसकी कड़ी निंदा भी की जायेगी ’

मास्को से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार पूर्व सोवियत नेता मिखाइल गोर्बाचेव ने रविवार को शीत युद्ध के दौरान रूस के साथ की गई परमाणु हथियार संधि से अलग होने संबंधी ट्रंप के अविवेकपूर्ण फैसला की निंदा की

87 वर्षीय गोर्बाचेव ने इंटरफैक्स संवाद समिति को दिये एक इंटरव्यू में कहा, ‘यह समझना वाकई कठिन है कि इन संधियों से अलग हो रहे है क्या यह ज्ञान की कमी दिखाता है? उन्होंने कहा, ‘संधि से बाहर होना एक गलती है

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

इस मामले को लेकर सांसद के बेटे ने बीजेपी विधायक के बेटे पर किया हमला

भाजपा विधायक के बेटे ने अपने चाचा व सांसद के बेटे पर उसके ऊपर तलवार से हमला ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop