Wednesday , November 21 2018 1:16 AM
Breaking News

प्रेस कॉन्फ्रेंस में भड़के ट्रंप, CNN के रिपोर्टर का प्रेस पास किया रद्द्द


फोटो साभार रॉयटर्स
वॉशिंगटन। व्हाइट हाउस ने सीएनएन के एक वरिष्ठ पत्रकार पर खराब बर्ताव का आरोप लगाते हुए उसका प्रेस पास निलंबित (अस्थाई तौर पर अमान्य) कर दिया। इससे पहले बुधवार को हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेस के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और सीएनएन के प्रमुख व्हाइट हाउस संवाददाता जिम अकोस्टा के बीच तीखी नोकझोंक हुई थी। व्हाइट हाउस ने अकोस्टा के बर्ताव को ‘खराब और अपमानजनक’ करार दिया।

अकोस्टा और ट्रंप के बीच कहासुनी उस वक्त हुई जब सीएनएन संवाददाता ने बैठ जाने के राष्ट्रपति के निर्देश को नहीं माना और अमेरिकी सीमा की तरफ बढ़ रहे मध्य अमेरिकी प्रवासियों के कारवां पर उनकी राय जानने के लिए लगातार सवाल करते रहे. अकोस्टा का पास निलंबित किए जाने पर ट्रंप प्रशासन और मीडिया के बीच तनाव बढ़ गया है।

करीब एक घंटे छब्बीस मिनट तक चली प्रेस कान्फ्रेंस में डोनाल्ड ट्रंप ने इस तरह से सवाल पूछने के लिए संवाददाता को ‘अभद्र’ कहा। डोनाल्ड ट्रंप ने संवाददाता सम्मेलन में सबसे पहले जिन पत्रकारों को सवाल पूछने के लिए कहा, अकोस्टा उनमें थे। अकोस्टा ने कहा, ‘मैं चुनाव प्रचार के आखिर में दिये गये आपके एक बयान को चुनौती देना चाहता हूं। ’

उन्होंने कहा, ‘जैसा कि आप जानते हैं, कारवां हमला नहीं है। यह मध्य अमेरिका से अमेरिकी सीमा की ओर बढ़ रहे प्रवासियों का एक समूह है। ’ ट्रंप ने चुटीले अंदाज में जवाब देते हुए कहा, ‘जानकारी देने के लिए शुक्रिया. मैं इसका स्वागत करता हूं। ’

इसी तरह धीरे-धीरे यह सवाल-जवाब तनावपूर्ण होता चला गया और ट्रंप ने कहा,‘ईमानदारी से आपको मुझे देश चलाने देना चाहिए। आप सीएनएन चलाइए. और अगर आप सही से ऐसा करते हैं तो आपकी रेटिंग और बेहतर होगी.’ बेहद गुस्से में दिख रहे ट्रंप ने कहा, ‘बहुत हो गया। ’

क्या कहा व्हाइट हाउस ने?
अकोस्टा के बर्ताव को ‘खराब और अपमानजनक’ करार देते हुए व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने बुधवार को एक बयान में कहा, ‘आज की घटना के नतीजे के तौर पर व्हाइट हाउस, संबंधित रिपोर्टर का ‘हार्ड पास’ अगले आदेश तक के लिए निलंबित करता है.’

सारा ने कहा कि ट्रंप आजाद प्रेस में यकीन करते हैं और अपने एवं अपने प्रशासन के बारे में मुश्किल सवालों की अपेक्षा करते हैं। उन्होंने कहा,‘बहरहाल, हम यह कभी नहीं बर्दाश्त करेंगे कि कोई रिपोर्टर व्हाइट हाउस इंटर्न के तौर पर अपना काम कर रही युवती पर अपना हाथ रखे. यह बर्ताव पूरी तरह अस्वीकार्य है.’ सारा ने कहा,‘यह अन्य रिपोर्टरों के लिए भी पूरी तरह अनादर की बात है कि उन्हें सवाल पूछने का मौका नहीं मिले.’ उन्होंने दावा किया कि ट्रंप ने प्रेस को पहले के किसी भी राष्ट्रपति के कार्यकाल की तुलना में कहीं ज्यादा आजादी दी है.

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव ने कहा,‘सीएनएन की दलीलों के उलट, आजाद प्रेस के प्रति राष्ट्रपति के समर्थन का प्रदर्शन आज के कार्यक्रम से ज्यादा कुछ नहीं होगा. करीब डेढ़ घंटे में 35 अलग-अलग रिपोर्टरों से 68 सवाल लेने के बीच, आजाद प्रेस का समर्थन नहीं करने की बात कहकर वे राष्ट्रपति पर हमले बोलेंगे. इनमें कई सवाल तो उक्त रिपोर्टर के भी थे। ’

इस बीच सीएनएन ने अकोस्टा का बचाव करते हुए कहा कि ट्रंप प्रशासन का फैसला ‘लोकतंत्र के लिए खतरा’ है। इस बीच सीएनएन ने कहा कि ‘आज की प्रेस कांफ्रेंस में चुनौतीपूर्ण सवाल पूछने के कारण बदले की कार्रवाई करते हुए’ अकोस्टा का पास निलंबित किया गया। यह अभूतपूर्व फैसला हमारे लोकतंत्र के लिए खतरा है और देश इससे बेहतर के काबिल है। ’ शाम करीब सात बजे अकोस्टा को सीक्रेट सर्विस के अधिकारियों ने व्हाइट हाउस में दाखिल होने से रोक दिया।

व्हाइट हाउस संवाददाता संगठन के पूर्व अध्यक्ष जेफ मैसन ने व्हाइट हाउस के इस आरोप को खारिज किया कि अकोस्टा ने महिला इंटर्न पर अपना हाथ रखा था। मैसन ने ट्वीट किया,‘मैं आज की प्रेस कांफ्रेंस में अकोस्टा के ठीक बगल में बैठा था और उन्हें युवा इंटर्न पर अपना हाथ रखते नहीं देखा। ’

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के संवाददाता मैसन ने सीएनएन संवाददाता अकोस्टा का बचाव करते हुए कहा कि इंटर्न के आने तक अकोस्टा ने माइक पकड़ कर रखा और बाद में अपनी बात साबित करने के लिए प्रेस कांफ्रेंस की कुछ तस्वीरें डालीं।

पिछले 22 साल से व्हाइट हाउस कवर कर रहे न्यूयॉर्क टाइम्स के पत्रकार पीटर बेकर ने कहा,‘यह ऐसी चीज है जो मैंने 1996 में व्हाइट हाउस कवर करने की शुरुआत से लेकर अब तक नहीं देखी. दूसरे राष्ट्रपतियों को मुश्किल सवालों से डर नहीं लगता था। ’ व्हाइट हाउस संवाददाता संगठन ने यह भी कहा कि ऐसा फैसला ‘अस्वीकार्य’ है। संगठन ने व्हाइट हाउस से ‘अपना फैसला तुंरत वापस लेने’ की अपील की।

संगठन के अध्यक्ष ओलिवियर नॉक्स ने कहा,‘पत्रकार अपना काम करने के लिए कई तरीके अपना सकते हैं और व्हाइट हाउस संवाददाता संगठन राष्ट्रपति सहित ताकतवर सरकारी आला अधिकारियों से सवाल पूछने को लेकर अपने सदस्यों के लहजे पर नियंत्रण नहीं करता। ’

इस बीच, व्हाइट हाउस ने कहा कि वह अपने फैसले पर कायम है। सारा ने एक वीडियो साझा करते हुए कहा, ‘हम इस व्यक्ति का हार्ड पास निलंबित करने के अपने फैसले पर कायम हैं। हम इस वीडियो में साफ तौर पर नजर आ रहे अनुचित व्यवहार को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

 संसार का ये सबसे पहला एक्सक्लूसिव होटल, आपको कर देगा हैरान

संसार का सबसे पहला अंडरग्राउंड होटल शंघाई में खुल गया है। यह होटल अपनी बनावट के साथ ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop