Friday , December 14 2018 4:12 AM

सरकारी विमानन कंपनी को उबारने के लिए गवर्नमेंट ने तैयार किया ये मेगा प्लान

घाटे में चल रही सरकारी विमानन कंपनी को उबारने के लिए गवर्नमेंट ने मेगा प्लान तैयार किया है इसके लिए एयर इंडिया स्पेसिफिक अल्टेरनेट मेकेनिज्म तैयार किया गया है

इस प्लान के तहत विमानन कंपनी की वित्तीय हालत सुधारने के लिए गवर्नमेंट की तरफ से 10 से 12 अहम कदम उठाए जाएंगे इन कदमों में गवर्नमेंट का ध्यान कास्ट कटिंग करने के साथ ही राजस्व बढ़ाने पर जोर रहेगा आने वाले समय में गवर्नमेंट का लक्ष्य इन कदमों को उठाकर सालाना 2000 करोड़ कमाने का है

एयरलाइन 10 से 12 कदम पर कार्य प्रारम्भ करेगी
एयरलाइन सुझाए गए 10 से 12 कदम पर कार्य प्रारम्भ करेगी, जिससे गवर्नमेंट को उम्मीद है कि सालाना 2000 करोड़ रुपये की अलावा कमाई या बचत हो सकती है सिविल एविएशन सचिव आरएन चौबे के अनुसार एयर इंडिया को लेकर बनाए गए मेगा प्लान को इंटर मिनिस्ट्रियल ग्रुप को हाल में दिखाया गया है इस प्लान को गवर्नमेंट की तरफ से हरी झंडी दी जा चुकी है

परफॉर्मेंस के आधार पर गवर्नमेंट करेगी मदद
गवर्नमेंट ने एयर इंडिया मैनेजमेंट को साफ तौर पर आदेश दिया है कि गवर्नमेंट एयरलाइन की मदद उसकी परफॉर्मेंस के आधार पर ही करेगी यही नहीं गवर्नमेंट एयर इंडिया के करीब 50,000 करोड़ के कर्ज के बड़े हिस्से को तकरीबन 29000 करोड़ रुपये को भी स्पेशल पर्पज व्हीकल (SPV) पर शिफ्ट करेगी इस कदम से एयर इंडिया पर कर्ज का भारी दबाव बहुत ज्यादा हद तक हल्का हो सकता है

एयरलाइन की वित्तीय स्थिति मजबूत होगी
कर्ज की रकम में कटौती का सीधा मतलब है कि एयर इंडिया को बाकी बची कर्ज की रकम चुकाने में ज्यादा ब्याज नहीं देना होगा, जिससे एयर इंडिया को बड़ी राहत मिलेगी गवर्नमेंटएयर इंडिया की वित्तीय हालत सुधारने के बाद एक बार फिर विनिवेश के लिए कदम आगे बढ़ाएगी मंत्रालय अधिकारियों के मुताबिक, एयर इंडिया की वित्तीय स्थिति मजबूत होने पर न केवल विनिवेश का रास्ता साफ  सरल हो सकेगा, साथ ही गवर्नमेंट को एयर इंडिया की अच्छी मूल्य भी मिल सकेगी

इससे पहले समाचार आई थी कि एयर इंडिया की योजना देशभर में 70 से ज्यादा आवासीय एवं व्यावसायिक संपत्तियों की बिक्री कर 700 से 800 करोड़ रुपये जुटाने की है कंपनी की तरफ से जानकारी दी गई थी कि 16 शहरों में स्थित इन संपत्तियों की एमएसटीसी के जरिये ई-नीलामी की जाएगी

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

कमलनाथ मध्यप्रदेश के अगले मुख्यमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

jewelry shop