Wednesday , April 24 2019 11:39 PM
Breaking News

मनी लॉन्ड्रिंग केस में रॉबर्ट वाड्रा से ईडी ने 6 घंटे में पूछे 36 सवाल

अर्ली न्यूज़/नई दिल्ली। राहुल गाँधी के जीजा और प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा से कल प्रवर्तन निदेशालय में 6 घंटे पूछताछ हुई।  रॉबर्ट वाड्रा को छह घंटे तक ईडी के 36 सवालों का जवाब देना पड़ा।  वाड्रा आज सुबह साढ़े दस बजे फिर से ईडी के दफ्तर में पूछताछ के लिए पहुंच सकते हैं।

रॉबर्ट वाड्रा से 6 घंटे और 36 सवालों से सियासी भूचाल आ गया है।  कल ईडी ने उनकी लंदन की आधा दर्जन से ज्यादा कथित संपत्तियो के बारे में पूछताछ की।  ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग की धारा 50 के तहत वाड्रा के बयानों को दर्ज किया है।  जानकारी के मुताबिक रॉबर्ट वाड्रा पूछताछ के दौरान मनी लॉन्ड्रिंग की धारा 50 को लेकर परेशान दिखे।  मनी लॉन्ड्रिंग की धारा 50 के तहत बयान गलत पाया गया तो कानूनी कार्रवाई होगी।

रॉबर्ट वाड्रा से आज होने वाली पूछताछ में ईडी उनके कथित करीबी और आर्म्स डीलर संजय भंडारी के बयानों को शामिल कर सकता है।  आरोपों के मुताबिक संजय भंडारी मनी लॉन्ड्रिंग के केस में मुख्य किरदार भी हैं। संजय भंडारी ने रॉबर्ट वाड्रा को लेकर कई अहम खुलासे किए हैं।

ईडी ने पूछताछ के दौरान सहायक मनोज अरोड़ा के बयानों के आधार पर भी वाड्रा को घेरा। वाड्रा के निजी सहायक मनोज अरोड़ा ने कई अहम खुलासे किए हैं।  ED रॉबर्ट वाड्रा और मनोज अरोड़ा से एक साथ पूछताछ करना चाहता है।  प्रवर्तन निदेशालय दो बार मनोज अरोड़ा से भी पूछताछ कर चुका है।

पूचताछ के इस पूरे मामले में रॉबर्ड वाड्रा को पत्नी प्रियंका गांधी का साथ मिला है।  कल पूछताछ के लिए प्रियंका गांधी रॉबर्ट वाड्रा को प्रवर्तन निदेशालय के ऑफिस के गेट तक छोड़ने आईं।  प्रियंका गांधी की ओर से कहा, ”वाड्रा मेरे पति हैं, मेरा परिवार हैं।  मैं अपने परिवार के साथ हूं, दुनिया जानती है कि क्या राजनीति है
सबको पता है क्या हो रहा है, वो क्या कर रहे हैं ?”

ईडी की ओर से वाड्रा से पूछे गए कुछ अहम सवाल
सवाल- लंदन की 12 ब्रायस्टन स्कवॉयर संपत्ति आपकी है?
सवाल- आपका इस प्रॉपर्टी से क्या लेना देना है कि प्रॉपर्टी के रेनोवेशन संबंधी मेल आपको भेजे गए?
सवाल- क्या ये सही है कि इस प्रॉपर्टी का फ्लोर प्लान आपके पास एप्रूवल के लिए भेजा गया?
जवाब- वाड्रा ने जवाब दिया कि ये उनकी संपत्ति नहीं है
सवाल- साल 2010 में जब ये मेल आपके पास आ रहे थे तब ये प्रापर्टी हथियार डीलर संजय भंडारी के पास थी तब ईमेल आपके पास क्यों आ रहे थे
सवाल- आपको भेजे जाने वाले हर ई मेल की कापी संजय भंडारी को भी दी जा रही थी ऐसा क्यों था?
सवाल- आप संजय भंडारी और सुमित चड्डा को कैसे जानते है?
जवाब- वाड्रा ने संजय भंडारी को पहचानने से इंकार किया
सवाल -दुबई में रहने वाले भारतीय सी सी थंपी को क्या आप जानते है जिसने ये प्रॉपर्टी संजय भंडारी से खरीदी थी?

 

रॉबर्ड वाड्रा का पूरा मामला क्या है
भाजपा का आरोप है कि साल 2009 में रॉबर्ट वाड्रा को पेट्रोलियम और रक्षा सौदे से दलाली मिली।  जिसके पैसों से रॉबर्ट वाड्रा ने लंदन में प्रॉपर्टी खरीदीं. बीजेपी का दावा है कि लंदन में वाड्रा की 8 से 9 प्रॉपर्टी हैं, जिसमें एक बंगले की कीमत 19 करोड़ रुपये है।

बीजेपी के मुताबिक लंदन में वाड्रा की प्रॉपर्टी का खुलासा उनके ईमेल से हुआ।  दावा है कि रॉबर्ट वाड्रा को ई-मेल के जरिए लंदन की प्रॉपर्टी में दोबारा काम करवाने के सिलसिले में री फर्बिशिंग प्लान भेजे गए, जिनका वाड्रा की तरफ से जवाब भी दिया गया।  बीजेपी का सवाल है कि अगर लंदन की प्रॉपर्टी वाड्रा की नहीं है तो उन्हें इससे जुड़े प्लान क्यों भेजे गए और उनका वाड्रा ने क्यों जवाब दिया।

बीजेपी का एक और दावा है कि दिल्ली के मालचा मार्ग में वाड्रा की एक और संपत्ति थी।  ये प्रॉपर्टी वाड्रा के करीबी जगदीश शर्मा के नाम पर थी, जिसे साल 2008-09 में MR-MGF को बेच दिया गया. उस वक्त MR-MGF का डायरेक्टर गुइडो हैशके था, जो अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपी भी है।  हालांकि इन आरोपों से वाड्रा के करीबी इनकार करते हैं।

रॉबर्ड वाड्रा पर आरोप है पेट्रोलियम और रक्षा सौदे से दलाली खाई. दलाली के पैसों से लंदन में प्रॉपर्टी खरीदने का भी आरोप है।

आर्म्स डीलर, संजय भंडारी पर रॉबर्ड वाड्रा के करीबी होने का आरोप है  ED ने 26 करोड़ की संपत्ति जब्त की फिलहाल देश छोड़कर फरार है। संजय भंडारी के लंदन में होने की खबर है।

मनोज अरोड़ा पर वाड्रा का सहयोगी और वाड्रा के निजी सहायक मनोज आरोड़ा पर पैसों की हेराफेरी का आरोप है।  वाड्रा की कंपनी स्काई लाइट में काम करता है। प्रवर्तन निदेशालय दो बार मनोज अरोड़ा से पूछताछ कर चुका है।

कांग्रेस ने कहा
कांग्रेस ने बुधवार को बीजेपी के आरोपों को खारिज किया है। कांग्रेस ने कहा कि लोकसभा चुनाव से ठीक पहले लोगों को गुमराह करने और चुनावी जुमलेबाजी की कोशिश की जा रही है।  पार्टी ने यह भी सवाल किया कि अगर बीजेपी के पास दस्तावेज हैं तो वह पिछले पांच साल से सिर्फ प्रेस कॉन्फ्रेंस ही क्यों करती आ रही है?

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, ”चुनावी मौसम चल रहा है।  हम जानते हैं कि जब सम्मन के जवाब दिए जाएंगे तो प्रेस कॉन्फ्रेंस होंगे. वह (वाड्रा) सम्मन के जवाब में वहां गए। ” सिंघवी ने सवाल किया, ”भारतीय जुमलेबाजी पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा से कुछ सवाल पूछे जाने चाहिए। आप पांच साल से सिर्फ प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों कर रहे हैं? अगर आपके पास कागजात और डेटा हैं तो इन्हें आप प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्यों दे रहे हैं, जबकि आप लोग सरकार में हैं?”

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

लोकसभा चुनाव 2019: बिहार-यूपी समेत देशभर में वोटरों में उत्साह, लेकिन कई जगह ईवीएम ख़राब

अर्ली न्यूज़/लखनऊ।लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में 13 राज्य और दो केन्द्र शासित राज्यों के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *