Wednesday , April 24 2019 11:37 PM
Breaking News

यह बजट सबको धोखा देने वाला है,बजट में न विकास है, न विजन है और नहीं सामाजिक न्याय है-अखिलेश

अर्ली न्यूज़/लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज उत्तर प्रदेश सरकार के वर्ष 2019-2020 के बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह बजट सबको धोखा देने वाला है। इस बजट में न विकास है, न विजन है और नहीं सामाजिक न्याय है। बजट में किसानों और नौजवानों के लिए कुछ नहीं है। जो पहले था वह भी इस बजट में खो गया।
समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में आयोजित प्रेस कांफ्रेस में श्री यादव ने कहा कि जिसकी जैसी समझ वैसा उसका बजट। केन्द्र और राज्य के बजट निराशाजनक है। किसान का गन्ना सूख रहा है। चीनी मिल मालिक उद्योगपतियों से मिलकर बाहर से चीनी मंगा रहे है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं हो रहा है। आन्दोलन करने पर लाठीचार्ज होता है। चिकित्सा शिक्षा के लिए भी कुछ नहीं है।
श्री यादव ने कहा कि हम लोगों ने सोचा था कि इस बजट से छात्रों को लैपटाॅप बंटेगा, कन्या विद्याधन मिलेगा और समाजवादी पेंशन योजना जैसी स्कीम होगी, लेकिन यह बजट तो चुनावी बजट भी नहीं निकला। इस सरकार ने सूरज को भी धोखा देने का काम किया है। उत्तर प्रदेश में हुए इन्वेस्टर्स समिट में सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट सोलर एनर्जी के क्षेत्र में होने की बात थी लेकिन इस बजट में इस मद में कुछ नहीं है।
 अखिलेश यादव ने कहा कि बजट में स्मार्ट सिटी की बात है लेकिन छोटे शहरों और मलिन बस्तियों के लिए बहुत कम पैसा दिया गया है। प्रति गांव 42 हजार में गाय की सुरक्षा और सेवा क्या होगी? न तो कोई नया सैनिक स्कूल दिया गया है न इंजीनियरिंग कालेज। जो काम हो रहे थे वे भी धीमे हो गए है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज उत्तर प्रदेश सरकार के वर्ष 2019-2020 के बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह बजट सबको धोखा देने वाला है। इस बजट में न विकास है, न विजन है और नहीं सामाजिक न्याय है। बजट में किसानों और नौजवानों के लिए कुछ नहीं है। जो पहले था वह भी इस बजट में खो गया।  समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में आयोजित प्रेस कांफ्रेस में श्री अखिलेश यादव ने कहा कि जिसकी जैसी समझ वैसा उसका बजट। केन्द्र और राज्य के बजट निराशाजनक है। किसान का गन्ना सूख रहा है। चीनी मिल मालिक उद्योगपतियों से मिलकर बाहर से चीनी मंगा रहे है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं हो रहा है। आन्दोलन करने पर लाठीचार्ज होता है। चिकित्सा शिक्षा के लिए भी कुछ नहीं है।
        श्री यादव ने कहा कि हम लोगों ने सोचा था कि इस बजट से छात्रों को लैपटाॅप बंटेगा, कन्या विद्याधन मिलेगा और समाजवादी पेंशन योजना जैसी स्कीम होगी, लेकिन यह बजट तो चुनावी बजट भी नहीं निकला। इस सरकार ने सूरज को भी धोखा देने का काम किया है। उत्तर प्रदेश में हुए इन्वेस्टर्स समिट में सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट सोलर एनर्जी के क्षेत्र में होने की बात थी लेकिन इस बजट में इस मद में कुछ नहीं है।
अखिलेश यादव ने कहा कि बजट में स्मार्ट सिटी की बात है लेकिन छोटे शहरों और मलिन बस्तियों के लिए बहुत कम पैसा दिया गया है। प्रति गांव 42 हजार में गाय की सुरक्षा और सेवा क्या होगी? न तो कोई नया सैनिक स्कूल दिया गया है न इंजीनियरिंग कालेज। जो काम हो रहे थे वे भी धीमे हो गए है। आलू मण्डी, आम मण्डी, का काम रोक दिया गया है। कैंसर इंस्टीट्यूट को पिछले 2 बजट में भाजपा सरकार ने पैसा ही नहीं दिया था अब जो दिया है उससे क्या भला होगा? इस बजट में 22 करोड़ पेड़ लगाने की बात है पर जमीन कहां है जहां ये लगेंगे?
 अखिलेश यादव ने कहा कि आगरा-कानपुर मेट्रो के लिए इस बजट में जो धनराशि है उससे बस शिलान्यास का शिलान्यास ही हो पाएगा? झांसी-आगरा में मेट्रो चलने का इंतजार रहेगा। पूर्वांचल, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे बनने के आसार नही। उच्च शिक्षा के लिए भी कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार चाहती है लोग ज्यादा से ज्यादा शराब पिएं। गौसेवा तो अन्य पुण्यकार्यों से भी हो सकती थी। ऐसे शौचालय बने है जिनमें पानी नहीं। हमारे रिवरफ्रंट माॅडल से ही नदियों की सफाई हो सकेगी।
श्री यादव ने कहा कि जिन्होंने गोमती को साफ नहीं होने दिया और उसमें रूकावट डाली उनकी सीबीआई से जांच कराएंगे। गंगा मइया ने आशीर्वाद दिया तो भाजपा के लिए वोटो की उल्टी गंगा बहेगी।आलू मण्डी, आम मण्डी, का काम रोक दिया गया है। कैंसर इंस्टीट्यूट को पिछले 2 बजट में भाजपा सरकार ने पैसा ही नहीं दिया था अब जो दिया है उससे क्या भला होगा? इस बजट में 22 करोड़ पेड़ लगाने की बात है पर जमीन कहां है जहां ये लगेंगे?
 अखिलेश यादव ने कहा कि आगरा-कानपुर मेट्रो के लिए इस बजट में जो धनराशि है उससे बस शिलान्यास का शिलान्यास ही हो पाएगा? झांसी-आगरा में मेट्रो चलने का इंतजार रहेगा। पूर्वांचल, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे बनने के आसार नही। उच्च शिक्षा के लिए भी कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार चाहती है लोग ज्यादा से ज्यादा शराब पिएं। गौसेवा तो अन्य पुण्यकार्यों से भी हो सकती थी। ऐसे शौचालय बने है जिनमें पानी नहीं। हमारे रिवरफ्रंट माॅडल से ही नदियों की सफाई हो सकेगी।
श्री यादव ने कहा कि जिन्होंने गोमती को साफ नहीं होने दिया और उसमें रूकावट डाली उनकी सीबीआई से जांच कराएंगे। गंगा मइया ने आशीर्वाद दिया तो भाजपा के लिए वोटो की उल्टी गंगा बहेगी।

About Anand Gopal Chaturvedi

Group Editor / CMD Early News Group

Check Also

लोकसभा चुनाव 2019: बिहार-यूपी समेत देशभर में वोटरों में उत्साह, लेकिन कई जगह ईवीएम ख़राब

अर्ली न्यूज़/लखनऊ।लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में 13 राज्य और दो केन्द्र शासित राज्यों के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *