Latest News
मोदी के यूएनजीए भाषण की 12 बड़ी नीतिगत बातें ट्वीट की विदेश मंत्री एस. जयशंकर नेप्रियंका का 7 दिवसीय लखनऊ दौरा, लेंगी चुनावी तैयारियों का जायजाकेंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा- एसबीआई आकार के 4-5 और बैंकों की भारत को जरूरतवाराणसी, मिजार्पुर को जोड़ेगी बोट सेवा, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर पूरा होने का इंतजारआज होगा योगी कैबिनेट विस्तार, राजभवन में हलचल तेजकार्तिक सारा की जोड़ी एक बार फिर आएगी साथ, सिंगर अमर सिंह चमकीला की बायॉपिक में लगाएंगे अपने हुनर का तड़कागदर की ‘सकीना’ का बेहद बोल्ड अंदाज़ देख आपके छूट जायेंगे पसीनेमन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने की एलोवेरा विलेज की तारीफ, जानिए क्या है खासपंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर BJP कार्यकर्ता घर-घर जा कर करेंगे पार्टी प्रचारअमेरिका ने भारत वापसी पर प्रधानमंत्री को दिया पौंराणिक एवं प्राचीन कलाकृतियाँ
राष्ट्रीय

पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर मोदी के नजर: PM का अलीगढ़ दौरा आज, कई योजनाओं की देंगे सौगात

पीएम मोदी यहां राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय और डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे

लखनऊ। अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election) के लिए बीजेपी (BJP) आज (14 सितंबर) से पश्चिमी यूपी में चुनाव प्रचार का बिगुल फूंकने जा रही है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अलीगढ़ (PM Narendra Modi Aligarh Visit) पहुंच रहे हैं. पीएम मोदी यहां राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय और डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे. अलीगढ़ में पीएम मोदी एक जनसभा को संबोधित भी करेंगे और बीजेपी का दावा है कि इस सभा में एक लाख लोग जुटेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ पहुंचेंगे और अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव की वजह से पीएम का यह दौरा राजनीतिक तौर पर काफी अहम है. राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय के शिलान्यास के जरिए बीजेपी (BJP) की नजर पश्चिमी यूपी के जाट वोटरों पर है.

यूपी विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में अब 6 महीने से भी कम का वक्त बचा है. पिछले साल शुरू हुए किसान आंदोलन के बाद से पश्चिमी यूपी में बीजेपी को जनाधार खिसकने का डर सता रहा है, क्योंकि किसान आंदोलन में पश्चिमी यूपी के किसानों की बड़ी भूमिका है. ऐसे में अलीगढ़ दौरे के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिमी यूपी को साधने की कोशिश करेंगे. भले ही पूरे देश में आपको राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में बताने वाले कम मिलें, लेकिन पश्चिमी यूपी में उनकी विरासत पर चर्चा खूब होती है. बीजेपी की कोशिश है कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी के जरिए एक ओर तो वो युवाओं को साथ लाएं दूसरी ओर जाट समुदाय की नाराजगी को कम करें.

राजा महेंद्र प्रताप सिंह हाथरस के राजा थे. राजा महेंद्र प्रताप सिंह के जाट समुदाय के होने की वजह से पश्चिमी यूपी में उनका काफी सम्मान है. राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने भारत की स्वतंत्रता के लिए 20 से 25 देशों मे आजादी की अलख जगाने के लिए यात्रा की.  31 वर्ष 8 महीने वो विदेशों में रहे और 1946 में भारत लौटे. राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने बुलंदशहर से लेकर अलीगढ़, हाथरस और वृंदावन में अपनी संपत्ति का 60-70 प्रतिशत हिस्सा शिक्षण संस्थाओं को दान दे दिया. यहां तक कि उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए भी जमीन दान दी थी. हालांकि इतिहास में उनके किए गए कामों को दबा दिया गया. अलीगढ़ यूनिवर्सिटी (Aligarh University) के लिए उन्होंने ढाई एकड़ जमीन दान दी थी, लेकिन AMU में उनके नाम पर कुछ भी नहीं है.

राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय 92 एकड़ में बनेगा. इसे बनाने में करीब 101 करोड़ रुपये की लागत आएगी. अलीगढ़, कासगंज, हाथरस और एटा के 395 कॉलेज को इसी विश्वविद्यालय से संबद्ध किया जाएगा. इस विश्वविद्यालय के बनने के बाद अलीगढ़ मण्डल के छात्र-छात्राओं को हायर एजुकेशन का फायदा मिलेगा.

यूपी में बन रहे डिफेंस कॉरिडोर का एक हिस्सा अलीगढ़ में भी होगा, जिसका शिलान्यास पीएम मोदी करेंगे. यहां बनने वाले डिफेंस कॉरिडोर में देश की सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने वाले हथियारों का निर्माण होगा. अलीगढ़ में छोटे हथियार, ड्रोन, वायुसेना के इस्तेमाल में आने वाले कल-पुर्जे और एण्टी ड्रोन सिस्टम बनाए जाएंगे. यहां 19 कंपनियां 1245 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी. डिफेंस कॉरिडोर बनने से पश्चिमी यूपी के युवाओं के लिए रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे.

Show More

Related Articles

Back to top button