Latest News
Early News Hindi Daily E-Paper 26 September 2021मोदी के यूएनजीए भाषण की 12 बड़ी नीतिगत बातें ट्वीट की विदेश मंत्री एस. जयशंकर नेप्रियंका का 7 दिवसीय लखनऊ दौरा, लेंगी चुनावी तैयारियों का जायजाकेंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा- एसबीआई आकार के 4-5 और बैंकों की भारत को जरूरतवाराणसी, मिजार्पुर को जोड़ेगी बोट सेवा, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर पूरा होने का इंतजारआज होगा योगी कैबिनेट विस्तार, राजभवन में हलचल तेजकार्तिक सारा की जोड़ी एक बार फिर आएगी साथ, सिंगर अमर सिंह चमकीला की बायॉपिक में लगाएंगे अपने हुनर का तड़कागदर की ‘सकीना’ का बेहद बोल्ड अंदाज़ देख आपके छूट जायेंगे पसीनेमन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने की एलोवेरा विलेज की तारीफ, जानिए क्या है खासपंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर BJP कार्यकर्ता घर-घर जा कर करेंगे पार्टी प्रचार
ऑटो वर्ल्ड

अफ़ग़ानिस्तान में पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के बड़े भाई को तड़पाकर मारा

काबुल। अफगानिस्तान (Afghanistan) की सत्ता पर बलपूर्वक काबिज होने के बाद से तालिबान (Taliban) के जुल्मों में तेजी आ गई है. तालिबान ने अपने धुर विरोधी और देश के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह (Amrullah Saleh) के बड़े भाई रोहुल्लाह सालेह (Rohullah Saleh) की बर्बरतापूर्वक हत्या कर दी है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रोहुल्लाह सालेह (Rohullah Saleh) पंजशीर घाटी से काबुल जाने की कोशिश कर रहे थे. उसी दौरान तालिबानियों (Taliban) को इसका पता चल गया. उन्होंने सालेह की पहचान कर उन्हें बंदी बना लिया. इसके बाद रोहुल्लाह सालेह को कोड़ों और बिजली के तारों से पीटा गया. फिर तालिबान के आतंकियों ने उनका गला काट दिया. तालिबानी आतंकियों ने सालेह के मृत पड़े शव पर गोलियां भी बरसाईं.

इस खबर की अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है. वहीं इस बर्बर हत्या पर अमरुल्लाह सालेह (Amrullah Saleh) और पंजशीर के नेता अहमद मसूद का कोई बयान भी सामने नहीं आया है. उधर तालिबान (Taliban) ने भी इस हत्या पर चुप्पी साध रखी है. माना जा रहा है कि अगर यह घटना सच साबित हुई तो आने वाले दिनों में तालिबान के अत्याचारों में और तेजी आ सकती है.

बताते चलें कि पंजशीर को छोड़कर तालिबान (Taliban) का बाकी 33 प्रांतों पर पूरा कब्जा हो चुका है. पंजशीर में अधिकतर ताजिक मूल के लोग रहते हैं. वे अपने नेता अहमद मसूद और अमरुल्लाह सालेह (Amrullah Saleh) के नेतृत्व में तालिबान से टक्कर ले रहे हैं. हालांकि पाकिस्तान के ड्रोन विमानों की मदद से तालिबान ने पंजशीर के अधिकतर इलाकों पर अधिकार कर लिया है. फिर भी अमरुल्लाह सालेह के नेतृत्व में तालिबान विरोधी नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स के लड़ाके पहाड़ों की चोटियों से मुकाबला जारी रखे हुए हैं.

Show More

Related Articles

Back to top button