Latest News
Newsअर्ली बिज़नेसमहाराष्ट्रराज्यराष्ट्रीय

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा- एसबीआई आकार के 4-5 और बैंकों की भारत को जरूरत

NEW DELHI: देश की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए महामारी के बाद एक स्मार्ट रिकवरी की जा सके इसके लिए भारत को  बड़े आकार के और अधिक बैंकों की जरूरत है। मुंबई में भारतीय बैंक संघ की 74वीं वार्षिक आम बैठक में बोलते हुए, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि उद्योग की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए बैंकिंग को बढ़ाने की तत्काल आवश्यकता है।

उन्होंने कहा, “हमें बैंकिंग को बढ़ाने की जरूरत है। कम से कम चार-पांच और एसबीआई आकार के बैंकों की जरूरत है।”

सीतारमण ने महामारी की अवधि के दौरान बैंकों के विलय को ग्राहकों को बिना किसी असुविधा के पूरा करने के लिए पीएसबी के प्रयासों की सराहना की।

वित्त मंत्री ने कहा कि डिजिटलीकरण से कारोबार के तरीके में काफी बदलाव आया है और बैंकों को अब भविष्य के बारे में सोचना होगा और प्रौद्योगिकी के साथ तालमेल बिठाना होगा।

सीतारमण ने आईबीए को बैंक शाखा संचालन और उनके स्थान की उपस्थिति के संबंध में देश के प्रत्येक जिले का डिजिटाइज्ड मैपिंग करने के लिए भी कहा। उन्होंने कहा, इससे उन कमियों को दूर करने में मदद मिलेगी जहां कोई बैंकिंग उपस्थिति नहीं है।

वित्त मंत्री ने कहा, “हर जगह फीजिकल बैंकिंग उपस्थिति होना जरूरी नहीं है। देश के ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क ने लगभग 7.5 लाख पंचायतों में से दो-तिहाई को कवर किया है। इसका उपयोग असंबद्ध क्षेत्रों में भी बैंकिंग सेवाएं देने के लिए किया जा सकता है।”

Show More

Related Articles

Back to top button