Latest News
अरविंद केजरीवाल ने याचिका दायर कर जमानत की अवधि 7 दिन बढ़ाने की मांग कीगाजा के रफह में इजराइली हवाई हमले में 35 लोगों की मौत‘हनुमान’ वाले डायरेक्टर की नई फिल्म ‘राक्षस’ पर छिड़ा विवादचीन ने किया नया कारनामा, लैब में इबोला से बनाया घातक वायरसबंगाल में सबसे अधिक मतदान, जानिए प्रतिशतमतदान के दिन राहुल गांधी पहुंचे रायबरेली , मतदान केंद्रों का किया निरीक्षणहरदोई: वन दरोगा से मारपीट के बाद बिभाग ने की त्वरित बड़ी कार्रवाई, बेसुध रो कर चिल्लाया दारोगा हाय कोई तो बचा लोस्लोवाकिया PM फिको को लगी गोली, बुरी तरह घायल, खतरे से बाहर“नौकरी के नाम पर जमीनें लिखवाई गई”, मोदी का लालू पर हमलाक्षेत्रीय अध्यक्ष कमलेश मिश्र के नेतृत्व में कांग्रेस छोड़ सैकड़ो नेता भाजपा में शामिल
अंतर्राष्ट्रीय

निकाले जायेंगे गूगल से 12000 एंप्लॉयी, जाने निकाले गए कर्मचारियों को क्या-क्या मिलेगा

नई दिल्ली। दुनिया भर की बड़ी-छोटी कंपनियां अपने यहां छटनी करने में लगी हैं. अब खबर गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट से आ रही है. कंपनी अपने यहां छटनी करने जा रही है. इस छटनी में गूगल से 12000 एंप्लॉयी निकाले जाएंगे. इसको लेकर सुंदर पिचाई ने कर्मचारियों को मेल किया है. Google की मूल कंपनी Alphabet Inc से लगभग 12,000 नौकरियों या अपने कर्मचारियों के 6 फीसदी को बाहर करने की तैयारी कर रही है.

माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 10,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की बात कहने के कुछ दिनों बाद अल्फाबेट में कटौती हुई है. अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई ने एक मेमो में कर्मचारियों को बताया कि फर्म ने अपने प्रॉडक्ट, लोगों और प्राथमिकताओं का रिव्यू किया, जिसके बाद कटौती हुई है. पिचाई ने कहा, “फैक्ट यह है कि ये परिवर्तन Googlers के जीवन को प्रभावित करेंगे, मुझ पर भी भारी है, और मैं उन निर्णयों के लिए पूरी जिम्मेदारी लेता हूं जो हमें यहां तक ले आए.”

सुंदर पिचाई ने कहा कि हम कर्मचारियों का पूरा सहयोग करेंगे. पूरे नोटिफिकेशन टाइम के दौरान कर्मचारियों को सैलरी मिलेगी. इसके अलावा सेवरेंस पैकेज भी ऑफर कर रहे हैं जोकि 16 वीक की सैलरी से शुरू होता है. इसके अलावा गूगल में सेवा के प्रत्येक अतिरिक्त वर्ष के लिए दो सप्ताह की सैलरी शामिल होगी. कम से कम 16 सप्ताह के GSU वेस्टिंग में तेजी लाई जाएगी.

इतना ही नहीं कंपनी साल 2022 में बोनस की छुट्टियों का भी पे करेगी. कंपनी छोड़ने के 6 महीने बाद तक मेडिकल सर्विस भी कंपनी ही देगी. साथ ही प्लेसमेंट में भी हेल्प करेंगे. इसके अलावा इससे प्रभावित होने वालों को इमिग्रेशन में भी मदद करेगी. इसके अलावा सुंदर पिचाई ने कहा है कि अमेरिका से बाहर के एंप्लॉयीज को वहां के नियमों के मुताबिक सहायता की जाएगी.

सीईओ सुंदर पिचाई ने लिखा है कि ”मेरे पास शेयर करने के लिए बुरी खबर है. हमने अपने कर्मचारियों में करीब से 12,000 नौकरियां कम करने का फैसला लिया है. हम प्रभावित होने वाले अमेरिका के कर्मचारियों को पहले ही एक अलग ईमेल भेज चुके हैं. अन्य देशों में स्थानीय कानूनों और तौर तरीकों के कारण इस प्रक्रिया में अधिक समय लगेगा.”

Show More
[sf id=2 layout=8]

Related Articles

Back to top button