Latest News
अरविंद केजरीवाल ने याचिका दायर कर जमानत की अवधि 7 दिन बढ़ाने की मांग कीगाजा के रफह में इजराइली हवाई हमले में 35 लोगों की मौत‘हनुमान’ वाले डायरेक्टर की नई फिल्म ‘राक्षस’ पर छिड़ा विवादचीन ने किया नया कारनामा, लैब में इबोला से बनाया घातक वायरसबंगाल में सबसे अधिक मतदान, जानिए प्रतिशतमतदान के दिन राहुल गांधी पहुंचे रायबरेली , मतदान केंद्रों का किया निरीक्षणहरदोई: वन दरोगा से मारपीट के बाद बिभाग ने की त्वरित बड़ी कार्रवाई, बेसुध रो कर चिल्लाया दारोगा हाय कोई तो बचा लोस्लोवाकिया PM फिको को लगी गोली, बुरी तरह घायल, खतरे से बाहर“नौकरी के नाम पर जमीनें लिखवाई गई”, मोदी का लालू पर हमलाक्षेत्रीय अध्यक्ष कमलेश मिश्र के नेतृत्व में कांग्रेस छोड़ सैकड़ो नेता भाजपा में शामिल
ऑटो वर्ल्ड

बाइडेन ने यूक्रेन को 300 मिलियन डॉलर का एक नया पैकेज भेजने का किया एलान

नई दिल्ली। अमेरिका ने मंगलवार को ऐलान किया कि वह रूस के खिलाफ युद्द में यूक्रेन की मदद के लिए 300 मिलियन डॉलर का एक नया सैन्य सहायता पैकेज भेजेगा. रॉयटर्स के मुताबिक यह राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन का महीनों में पहला ऐसा कदम है क्योंकि कीव के लिए एडिशनल फंड्स को कांग्रेस में रिपब्लिकन नेताओं ने ब्लॉक किया हुआ है.युद्ध के मैदान की स्थिति और रिपब्लिकन कट्टरपंथियों की फंडिंग के विरोध की वजह से व्हाइट हाउस अधिक सैन्य सहायता भेजने के तरीके खोजने के लिए संघर्ष कर रहा है. अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि फंडिंग पेंटागन कॉन्ट्रैक्ट्स के कोस्ट सेविंग से आई है और इसका उपयोग हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम (HIMARS) के लिए आर्टिलरी राउंड और युद्ध सामग्री के लिए किया जाएगा.राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा, ‘यह गोला-बारूद यूक्रेन की बंदूकों को कुछ समय के लिए ही सही, फायर करते रहने के काबिल बना देगा. हालांकि उन्होंने कहा कि यह केवल कुछ हफ्तों के लिए ही यूक्रेन के लिए मददगार हो सकता है.सुलिवन ने कहा, ‘यह यूक्रेन की युद्धक्षेत्र की जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी नहीं है और यह यूक्रेन को गोला-बारूद से खाली हो जाने से नहीं रोक पाएगा.पेंटागन के प्रेस सचिव मेजर जनरल पैट राइडर ने कहा कि पैकेज में विमान भेदी मिसाइलें और तोपखाने के गोले शामिल हैं. उन्होंने कहा कि पेंटागन कॉन्ट्रैक्ट सेविंग के माध्यम से यूक्रेन को हथियार प्रदान करना संभवतः एक बार की स्थिति है और कीव को फंड देने का यह स्थायी तरीका नहीं है.अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि फंडिंग पेंटागन कॉन्ट्रैक्ट्स के कोस्ट सेविंग से आई है और इसका उपयोग हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम (HIMARS) के लिए आर्टिलरी राउंड और युद्ध सामग्री के लिए किया जाएगा.राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा, ‘यह गोला-बारूद यूक्रेन की बंदूकों को कुछ समय के लिए ही सही, फायर करते रहने के काबिल बना देगा. हालांकि उन्होंने कहा कि यह केवल कुछ हफ्तों के लिए ही यूक्रेन के लिए मददगार हो सकता है.सुलिवन ने कहा, ‘यह यूक्रेन की युद्धक्षेत्र की जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी नहीं है और यह यूक्रेन को गोला-बारूद से खाली हो जाने से नहीं रोक पाएगा.पेंटागन के प्रेस सचिव मेजर जनरल पैट राइडर ने कहा कि पैकेज में विमान भेदी मिसाइलें और तोपखाने के गोले शामिल हैं. उन्होंने कहा कि पेंटागन कॉन्ट्रैक्ट सेविंग के माध्यम से यूक्रेन को हथियार प्रदान करना संभवतः एक बार की स्थिति है और कीव को फंड देने का यह स्थायी तरीका नहीं है.

Show More
[sf id=2 layout=8]

Related Articles

Back to top button