Latest News
Early News Hindi Daily E-Paper 26 September 2021मोदी के यूएनजीए भाषण की 12 बड़ी नीतिगत बातें ट्वीट की विदेश मंत्री एस. जयशंकर नेप्रियंका का 7 दिवसीय लखनऊ दौरा, लेंगी चुनावी तैयारियों का जायजाकेंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा- एसबीआई आकार के 4-5 और बैंकों की भारत को जरूरतवाराणसी, मिजार्पुर को जोड़ेगी बोट सेवा, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर पूरा होने का इंतजारआज होगा योगी कैबिनेट विस्तार, राजभवन में हलचल तेजकार्तिक सारा की जोड़ी एक बार फिर आएगी साथ, सिंगर अमर सिंह चमकीला की बायॉपिक में लगाएंगे अपने हुनर का तड़कागदर की ‘सकीना’ का बेहद बोल्ड अंदाज़ देख आपके छूट जायेंगे पसीनेमन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने की एलोवेरा विलेज की तारीफ, जानिए क्या है खासपंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर BJP कार्यकर्ता घर-घर जा कर करेंगे पार्टी प्रचार
एजुकेशनब्रेकिंग न्यूज़राष्ट्रीय

अलीगढ़: PM मोदी ने राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ का दौरा अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव की वजह से राजनीतिक तौर पर काफी ख़ास है. राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय के शिलान्यास के जरिए बीजेपी (BJP) की नजर पश्चिमी यूपी के जाट वोटरों पर है.

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अलीगढ़ में  (PM Narendra Modi Aligarh Visit)  राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय और डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्यास किया. इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भी मौजूद थे, अलीगढ़ में पीएम मोदी ने एक जनसभा को संबोधित किया।

राजनीतिक तौर पर काफी अहम है पीएम मोदी का दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ का दौरा अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव की वजह से राजनीतिक तौर पर काफी ख़ास है. राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय के शिलान्यास के जरिए बीजेपी (BJP) की नजर पश्चिमी यूपी के जाट वोटरों पर है.

बीजेपी की पश्चिमी यूपी को साधने की कोशिश

यूपी विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में अब 6 महीने से भी कम का वक्त बचा है. पिछले साल शुरू हुए किसान आंदोलन के बाद से पश्चिमी यूपी में बीजेपी को जनाधार खिसकने का डर सता रहा है, क्योंकि किसान आंदोलन में पश्चिमी यूपी के किसानों की बड़ी भूमिका है. ऐसे में अलीगढ़ दौरे के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिमी यूपी को साधने की कोशिश करेंगे. भले ही पूरे देश में आपको राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में बताने वाले कम मिलें, लेकिन पश्चिमी यूपी में उनकी विरासत पर चर्चा खूब होती है. बीजेपी की कोशिश है कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी के जरिए एक ओर तो वो युवाओं को साथ लाएं दूसरी ओर जाट समुदाय की नाराजगी को कम करें.

जाने-कौन थे राजा महेंद्र प्रताप सिंह?

राजा महेंद्र प्रताप सिंह हाथरस के राजा थे. राजा महेंद्र प्रताप सिंह के जाट समुदाय के होने की वजह से पश्चिमी यूपी में उनका काफी सम्मान है. राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने भारत की स्वतंत्रता के लिए 20 से 25 देशों मे आजादी की अलख जगाने के लिए यात्रा की.  31 वर्ष 8 महीने वो विदेशों में रहे और 1946 में भारत लौटे. राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने बुलंदशहर से लेकर अलीगढ़, हाथरस और वृंदावन में अपनी संपत्ति का 60-70 प्रतिशत हिस्सा शिक्षण संस्थाओं को दान दे दिया. यहां तक कि उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए भी जमीन दान दी थी. हालांकि इतिहास में उनके किए गए कामों को दबा दिया गया. अलीगढ़ यूनिवर्सिटी (Aligarh University) के लिए उन्होंने ढाई एकड़ जमीन दान दी थी, लेकिन AMU में उनके नाम पर कुछ भी नहीं है.

92 एकड़ में बनेगा विश्वविद्यालय

राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय 92 एकड़ में बनेगा. इसे बनाने में करीब 101 करोड़ रुपये की लागत आएगी. अलीगढ़, कासगंज, हाथरस और एटा के 395 कॉलेज को इसी विश्वविद्यालय से संबद्ध किया जाएगा. इस विश्वविद्यालय के बनने के बाद अलीगढ़ मण्डल के छात्र-छात्राओं को हायर एजुकेशन का फायदा मिलेगा.

डिफेंस कॉरिडोर का क्या होगा फायदा?

उत्तर प्रदेश  में बन रहे डिफेंस कॉरिडोर का एक हिस्सा अलीगढ़ में भी होगा, जिसका शिलान्यास पीएम ने किया . यहां बनने वाले डिफेंस कॉरिडोर में देश की सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने वाले हथियारों का निर्माण होगा. अलीगढ़ में छोटे हथियार, ड्रोन, वायुसेना के इस्तेमाल में आने वाले कल-पुर्जे और एण्टी ड्रोन सिस्टम बनाए जाएंगे. यहां 19 कंपनियां 1245 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी. डिफेंस कॉरिडोर बनने से पश्चिमी यूपी के युवाओं के लिए रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे.

Show More

Related Articles

Back to top button