Latest News
अशोक चव्हाण बीजेपी में शामिल, अधूरी रह गई पहली इच्छाकिसान बड़े दिल्ली की और, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस, बॉर्डर सीलमिथुन चक्रवर्ती के सीने में तेज दर्द, कोलकाता के अस्पताल में भर्तीपाकिस्तान में जनरल मुनीर ने बांटी किसको कितनी सीट, PMNL-PPP-MQM-P गठबंधन सरकारपाकिस्तान चुनाव परिणाम में देरी के बीच आया इमरान खान का एआई विजय भाषणचौधरी चरण सिंह को मिला भारत रत्न, गदगद जयंत चौधरी, बाटे मिठाइयांलाल कृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न, प्रधानमंत्री मोदी का ऐलानपाकिस्तानियों ने भारतीय नौसेना जिंदाबाद के लगाए नारे, जान बचाने के लिए किया भारत को शुक्रियाBudget 2024: महिलाओं के लिए किया बड़ा ऐलान, इंफ्रा को दी भारी रकम, किसानों-मिडिल क्लास-युवाओं को बजट में मिला क्या?राहुल की सुरक्षा में चूक, कार का शीशा टूटा, अधीर बोले- किसी ने पत्थर मारा होगा; सुप्रिया ने कहा- सुरक्षा घेरे की रस्सी से टूटा शीशा
Newsभक्ति पोस्टराष्ट्रीय

श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु बाबा मंदिर की वेबसाइट मे ई-पास की व्यवस्था शुरू

देवघर : थंडरिंग के कारण झारखंड बाबा मंदिर के दर्शन करना श्रद्धालुओं के लिए बड़ी समस्या थी। वेबसाइट के बंद हो जाने से ई-पास सिस्टम की व्यवस्था बंद हो गयी थी. जिसके कारण चार दिनों बाद भी रांची स्थित डेटा सेंटर का फॉल्ट रि-स्टोर नहीं हो पाया. तब जिला प्रशासन ने स्थानीयस्तर पर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बाबा मंदिर की वेबसाइट में लिंक जारी कर ई-पास सिस्टम की वैकल्पिक व्यवस्था शुरू की है. लिंक मंगलवार की देर रात जारी कर दिया गया.

जिला प्रशासन की लिंक पर के श्रद्धालु बाबा मंदिर में प्रवेश के लिए अपना ई-पास बनवा सकेंगे. जारी ई-पास से बाबा मंदिर में प्रवेश कर जलार्पण/पूजन कर सकेंगे. उक्त जानकारी डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने दी. उन्होंने इस लिंक को लांच करते हुए कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार बाबा बैद्यनाथ मंदिर का पट आम श्रद्धालुओं के लिए प्रवेश के लिए ई-पास की व्यवस्था पुनः शुरू की गयी है. वेबसाइट के माध्यम से ई-पास प्राप्त कर श्रद्धालु बाबा मंदिर में प्रवेश कर पूजा-अर्चना कर सकते हैं.

उन्होंने लोगों से अपील की कि ई-पास के बारे में अधिक से अधिक लोगों को जानकारी दें. जिला प्रशासन प्रचार-प्रसार के विभिन्न माध्यमों से इस लिंक की जानकारी दे रहा है, ताकि जानकारी के अभाव में किसी भी श्रद्धालु को भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. डीसी ने देवतुल्य श्रद्धालुओं से आग्रह किया कि शत प्रतिशत कोविड नियमों का अनुपालन करते हुए जारी वेबसाइट से ई-पास निबंधन कराने के बाद ही मंदिर में प्रवेश की अनुमति होगी. वहीं ई-पास से जुड़े अपने सुझावों को जिला जनसंपर्क कार्यालय को अवगत करा सकते हैं.

 

Show More
[sf id=2 layout=8]

Related Articles

Back to top button